दिल्ली में बिटकॉइन के नाम पर ठगी का खुलासा हुआ है। पुलिस ने ऐसे दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जो रूस की तेल कपंनी के नाम पर क्रिप्टो करंसी बेच रहे थे। ये लोग ग्राहक को लाने के लिए दस प्रतिशत का कमीशन भी देते थे। दिल्ली पुलिस ने अभी तक दो दिन में बिटकॉइन की ठगी के दो मामलों का पर्दाफाश किया है।

बिटकाइन की तर्ज पर यदि आप रातोंरात करोड़पति बनने के लिए किसी क्रिप्टो करेंसी को खरीद रहे हैं, तो आप सीधे तौर पर धोखाधडी के शिकार हो रहे हैं, क्योंकि इस धोखाधडी को अंजाम देने वाला तो मालदार बन रहा है। लेकिन आपको कंगाल कर रहा है, ऐसे अनेक मामले अब तक जांच एजेंसियां दर्ज कर चुकी हैं और कुछ लोग गिरफ्तार भी हो चुके हैं।

इससे पहले सामने आया था ऐसा ही एक और मामला:
क्रिप्टो करेंसी के जरिए दिल्ली में हजारों लोगों से करोड़ों की ठगी का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में अशोक गोयल उर्फ जयपुरिया और उसके तीन साथियों- आसिफ मलकानी, रितेश तिवारी और सोनू दहिया को गिरफ्तार किया है। इन पर क्रिप्टो करेंसी के नाम पर लोगों से करोड़ों रूपए ठगने का आरोप है।

आपको बता दें कि अशोक गोयल ने बिटकॉइन की तरह एक कैश कॉइन बनाया था, जिसमें बिटकॉइन की तरह जबरदस्त फायदा होने की बात कही। और साथियों की मदद से हजारों लोगों को अपने साथ जोड़ा। कैशकॉइन खरीदने के लिए पेमेंट बिटकॉइन में लेता था।

आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि इन लोगों ने अपनी पेमेंट तो बिटकाइन के जरिए ली और लोगों को बदले में पकडा दिए फर्जी कैश क्ववाइन। जिनकी कीमत मिट्टी के बराबर थी। लालच में आकर जिन लोगों ने ये कैश क्ववाइन खरीदे वो कंगाल हो गए लेकिन ये लोग मालामाल हो गए। जांच एजेंसियो को पता चला है कि फर्जी क्रिप्टो करेंसी के बदले बिटकॉइन में पेमेंट लेने का ये खेल कई बड़ी और मशहूर देसी और विदेशी कंपनियों के नाम पर किया जा रहा है।

भारत में अवैध है ये करेंसी:
भारत सरकार बिटकॉइन या इस जैसी दूसरी सभी क्रिप्टो करेंसी को अवैध घोषित कर चुकी है। जांच एजेंसियों को पता चला है कि बिटकाइन के इस खेल में ब्लैक मनी भी लगायी जा रही है। ऐसा बताया जा रहा है कि लोगों से कैश लेकर फर्जी कंपनियों के जरिए बिटकॉइन में पैसा लगाया जाता है। सरकार बिटकॉइन पर बेहद कड़े कानून बनाने की तैयारी कर रही है, क्योंकि इसके नाम पर ठगी की शिकायतें मिल रही हैं। रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों सावधान रहने को कहा है।

अभी तक भारतीय स्टेट बैंक और ICIC बैंक जैसे बैंकों ने बिटक्वायन एक्सचेंज के खातों को लंबित कर दिया है। और साथ ही उधारी पर अतिरिक्त जमानत मांगी है। रिजर्व बैंक से आदेश मिलने के बाद पंजाब नेशनल बैंक ने अपनी तमाम शाखाओं में पड़ताल करने के आदेश दे दिए हैं। कि कहीं कोई बिटकॉइन एक्सचेंज खातेदार तो नहीं है, अगर ऐसे खाते मिले तो उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी।
Photo Source