धोनी का गरीबी से अमीरी तक का सफर, ये तस्वीरें करती हैं बयान !

खबरें

क्रिकेट में हर जगह महेंद्र सिंह धोनी का नाम गूंज रहा है | विराट कोहली के लिए वर्ल्ड कप में अब मिडल आर्डर की चिंता कम हो गयी है। धोनी की फॉर्म वापिस आ गयी है, कई तो धोनी को 2019 वर्ल्ड कप का कैपटन बनाने की बात कर रहे हैं।

धोनी के जीवन पर एक फिल्म तक बनी है, परन्तु उसमे भी धोनी के गरीबी से अमीरी तक के सफर को ज्यादा नहीं दिखाया गया है, इसका अंदाजा आज आपको हो जाएगा। हम आपके लिए धोनी के जीवन की ऐसी तस्वीरें लेकर आये है, जिन्हे आपने शायद ही कहीं देखा हो साथ ही ऐसी बातें जो शायद आप नहीं जानते हो।

धोनी फुटबाल में गोलकीपर की तरह खेलते थे इसीलिए उनके फुटबाल कोच ने उन्हें क्रिकेट क्लब में एंट्री के लिए भेजा था। धोनी की सभी फैमिली एक कमरे में रहते थे यह एक टुटा फूटा कमरा था, रेलवे में नौकरी के समय भी धोनी को ऐसे ही कमरे में रहना पड़ा अपने पिताजी के दवाब में धोनी ने यह नौकरी की थी।

धोनी अपने बलबूते पर क्रिकेट खेले यहाँ तक 2004 में उन्होंने पहला इंटरनेशनल मैच खेला उस समय उनकी उम्र 23 साल थी ज्यादा उम्र होने पर धोनी ने क्रिकेट में एंट्री की पहले वह अपने परिवार की गरीबी के कारण दवाब में नौकरी करते रहे।

धोनी 2008 और 2009 में लगातार ICC प्लेयर ऑफ़ द ईयर बने, ऐसा करने वाले धोनी पहले भारतीय है।

धोनी को राहुल द्रविड़ के बाद 2007 में कप्तानी मिली उस समय धोनी से बड़े अनुभव वाले खिलाड़ी भी थे इसलिए इनकी बहुत आलोचना हुई। भारत को हर एक कप जितने वाले अकेले धोनी ही हैं। भारत ने icc के सभी कप धोनी की कप्तानी में जीते है। इस समय सबसे ज्यादा कमाई करने में फोब्र्स की लिस्ट में धोनी का नाम भी है।

Leave a Reply