गर्मियों में नाक की नकसीर या नाक से खून बहना है आम समस्या। कैसे करें उपचार ?

खबरें

कई बार आपने देखा होगा कि नाक से बिना किसी चोट लगे खून बहने लगता है। इस समस्या मे किसी डाक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ती है।
 नाक से खून आने के कारण अक्सर हम इसे नकसीर के रूप में जानते होंगे। यह स्वास्थय के लिये कोई गम्भीर समस्या नहीं मानी जाती है। नाक में कई तरह की रक्त वाहिकाएं होती हैं। जो बहुत नाजुक होती हैं और यह एक पतली सी झिल्ली से ढ़की होती हैं। चोट लगने के कारण या कोई फुन्सी होने के कारण, कई बार यह झिल्ली फट जाती है। लेकिन कई और कारण भी नाक से खून बहने के हो सकते हैं क्या आपने कभी उन कारणों को भी जाना है। 3 से 10 वर्ष के बच्चों में यह समस्या आम होती है। तो आईये जानते हैं इस समस्या के कारण!
1. शुष्क हवा भी है कारण
अगर आप शुष्क जलवायु में रहते हैं और एयर कंडीशन का उपयोग करते हैं तो गर्मी के कारण नाक में खून की नलियाँ अक्सर फैल जाती हैं जो कि खून के बहाव और संक्रमण के प्रति असंवेदनशील हो जाती हैं। इसलिये इस समस्या को रोकने या कम करने के लिये प्रर्याप्त मात्रा में जल पीयें तथा जितना हो सके गर्मी से बचें। फिर भी अगर नकसीर आये तो सिर के आगे के हिस्से पर ठण्डा पानी डालें और थोड़ी देर तक सीधा लेट जायें याद रहे कोई तकिये का उपयोग न करें।
2. नाक में उंगली डालना
कई बच्चों को नाक में उगली डालने की आदत होती है जिस वजह से कई बार रक्त वाहिकाओं पर चोट या खरोच लग जाती है क्योंकि यह बहुत ही नाजुक होती हैं। अक्सर बच्चों में लगातार नकसीर की समस्या हीमोफीलिया का संकेत हो सकता है यह एक ऐसी अवस्था है जो खून के थक्के बनने की प्रक्रिया को धीमा करता है। चोट के कारण हीमोफीलिया के रोगियों को अन्य लोगों की तुलना में अधिक समय तक खून बहता रहता है।
3. साइनसाइटिस भी है कारण
साइनसाइटिस, साइनस की सूजन है, जो नाक की झिल्ली में सूखापन लाकर नकसीर पैदा कर देती है। यह समस्या वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण के कारण होती है। साइनसाइटिस की समस्या एलर्जी या पर्यावरण में मौजूद धूल-मिट्टी के कारण और बढ़ जाती है। साइनसाइटिस दो प्रकार के होते हैं । पहला एक्यूट और दूसरा क्रोनिक – दोनों में नाक में कंजेशन और नाक से डिस्चार्ज जैसी समस्याएं शामिल होती हैं। इन समस्याओं को रोकने के लिए आपको बलगम झिल्ली में सूजन को कम करने के उपाय करने चाहिये। इसके लिए आप सर्दी खांसी की दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर डाॅक्टर से सम्पर्क भी कर सकते हैं।
4. एलर्जी भी हो सकती है कारण
नाक से खून बहने की समस्या एलर्जी के कारण भी हो सकती है। एलर्जी के सामान्य लक्षणों जैसे रिनोरिया की तरह अन्य लक्षण भी हो सकते हैं। एलर्जी आपकी नाक को अधिक भीगा हुआ बनाकर नकसीर का कारण बन सकती है। रिनोरिया में लगातार जलन, नाक का बहना, नाक को लगातार मलने से नाक के टिश्यु में टूट-फूट होने लगती है। जिससे उनसे खून बहने लगता है। नकसीर को रोकने के लिए अपनी एलर्जी को नियंत्रण में रखें।
5. रक्त पतला होने के कारण
अगर आप उच्च रक्तचाप या रक्त के थक्के विकार के लिये दवाओं का उपयोग करते हैं तो नाक से नकसीर आने के समस्या हो सकती हैं। जो लोग एसपरिन जैसी दवाओं का उपयोग लगातार करते हैं उनमें यह समस्या आम होती हैं क्योंकि इन दवाओं से खून पतला हो जाता है। इस समस्या के समाधान के लिये आप हल्की एलर्जी काउंटर दवा ले सकते हैं।
6. जुकाम के कारण
नाक से खून आने के कई कारणों में से सर्दी जुकाम भी आम है। कोल्ड नाक की परत में जलन पैदा कर नकसीर की आशंका को काफी हद तक बढ़ा देता है। शुष्क सर्द हवा के साथ नाक की परत में जलन नकसीर के लिए आदर्श स्थिति बनाता है। जुकाम होने पर नाक के नर्म टिश्यु के साथ जबरदस्ती न करें बल्कि इसे धीरे से साफ करें।
7. नाक में चोट के कारण
किसी दुघर्टना में नाक पर चोट लगने से भी नकसीर की समस्या आ सकती है। कई बार नाक पर चोट लगने पर दिखाई नहीं देता, लेकिन फिर भी नकसीर होने लगती है। अगर चोट लगने के बाद नाक से खून आने की समस्या 8-10 मिनट से अधिक समय तक रहती है या हर दूसरे दिन ऐसी समस्या होती है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

Leave a Reply